चुदाई के बाद की दास्ताँ

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम अर्पित है और मैं हरियाणा का रहने वाला हूँ | मेरी उम्र 23 साल है और मैं देखने में पहलवान जैसा हूँ | जैसा मेरा शरीर है वैसा ही मेरा लंड है जिसका साइज़ 7.5 इंच है और मोटाई 4 इंच है | मैं किसी को उकसाने या अपनी तारीफ सुनने के लिए नहीं बता रहा हूँ बल्कि ये साइज़ मेरे खुद के द्वारा नापा हुआ है | मैं एक कंपनी में जॉब करता हूँ | मेरे घर में मैं हूँ, मेरे मम्मी पापा और एक बड़ी सिस्टर है जिसकी शादी हो चुकी है | दोस्तों, मैं शुरू से ही बिगड़ा लड़का था और मेरी आदत है रोज दारू पीने की | क्यूंकि मुझे बिना पिए नींद नहीं आती है | आज जो मैं कहानी आप लोगो के सामने पेश कर रहा हूँ ये मेरी पहली कहानी है | चलिए मैं ज्यादा टाइम ना गंवाते हुए सीधा अपनी कहानी पर आता हूँ |

दोस्तों, जिस कंपनी में मैं जॉब करता हूँ | वहां एक लड़की क्लर्क है जो दिखने में बहुत सुन्दर है और उसका फिगर भी एक दम सुडोल है | उसका नाम जानवी है | मैं उसको लाइन मारा करता पर वो मुझपे ध्यान ही नहीं देती | मैंने काफ़ी मशक्कत की उसे पटाने की पर वो मुझसे पट ही नहीं रही थी | ऐसा नहीं है कि मैं सिर्फ उसे चोदना चाहता था बल्कि मैं उसे शादी भी करना चाहता था | एक दिन की बात है बारिश का मौसम था | हमारे ऑफिस की छुट्टी के बाद मैं पार्किंग में से गाड़ी निकाल कर लाया और फ़ोन में अपने दोस्त से बात करने लगा | जानवी भी बाहर खड़ी थी | तभी वहां से तीन लड़के एक बाइक पर निकले और पानी उछाल दिया उस पर | जानवी बहुत तेज लड़की है | उसने उनको मादरचोद बोल के गाली दे दी | मैं वहीँ खड़े देख हो कर देख रहा था सब चीज़ | वो लड़के शायद नशे में थे तो वो पलट कर वापस आ गये और उससे छेड़खानी करने लगे | तब मैंने अपने दोस्त से कहा कि मैं तुझे थोड़ी देर से कॉल करता हूँ | फिर मैं वहां गया और कहा कि क्या हुआ जानवी कोई प्रॉब्लम है क्या ? तो उसने कहा देखो अर्पित ये लड़के मुझे छेड़ रहे हैं और इन्होने मुझ पर पानी भी उछाल दिया | तो वो लड़के बोलने लगे कि देख भाई तू बीच में मत बोल | इस लड़की ने हमे माँ की गाली दी है इसको को तो भुगतना ही पड़ेगा | तो मैंने कहा कि देखो भाइयो इससे जो गलती हुई उसकी तरफ से मैं माफ़ी मांगता हूँ पर तुम लोग ने भी पानी उछाला वो भी सही नहीं था | तो उन्होंने कहा कि अबे लौड़े जा ना अपना काम कर क्यों तू इस लौंडिया का वकील बन रहा है | मैं उन्हें प्यार से समझा रहा था पर वो मान ही नहीं रहे थे | फिर एक ने जैसे ही मेरी तरफ हाँथ बढ़ाया मारने के लिए तो मैं झुकते हुए एक मुक्का मारा | तो वो उतने में ही बेहोश हो गया |

मैंने उनकी तरफ देखा तो वो दोनों उसे वहीँ छोड़ कर भाग गये अपनी बाइक उठा कर | उसके बाद जानवी ने मुझे थैंक यू बोला तो मैंने उससे कहा कि थँक्स की कोई बात नहीं यार | चलो मैं तुम्हे घर छोड़ देता हूँ | फिर वो मेरे पीछे बैठ गयी और रास्ते हम दोनों बात करते हुए जाने लगे | जब उसका घर आया तो उसने कहा कि ये मेरा घर है तुम मुझे यहीं ड्राप कर दो और थैंक यू वन्स अगेन | मैंने फिर कहा अरे इसकी कोई जरुरत नहीं है | अब हमारी दोस्ती हो चुकी थी और ऑफिस में भी हम साथ में लंच करते और बात भी हो रही थी | फिर जब ऑफिस खत्म होने के बाद मैं फिर पार्किंग से गाड़ी से निकाला तो देखा कि वो तीन लौंडे फिर से आये हैं और जानवी गेट से आगे ही नहीं बढ़ रही है | वो लड़के वहीँ खड़े हो कर कॉल कर रहे थे पता नहीं किस को ? वहां पर 4 बाइक और आ गयी और हर एक गाड़ी में तीन तीन लड़के थे | मैं भी थोडा घबराया हुआ था पर मैं अपना इम्प्रैशन कम नहीं होने देना चाहता था जानवी के सामने | जानवी डर डर के बाहर निकलने लगी तो वो लड़के उसे फिर से छेड़ने लगे | मैं जैसे ही वहां पंहुचा तो जिस लड़के को मैंने मुक्का मारा था उसने चिल्लाया कि इसी ने मुझे मारा था |

सारे लड़के मेरी तरफ दौड़ पड़े | जानवी भी वहीँ खड़े हो कर देख रही थी | तभी वो सब लड़के रुक गए और कहा कि अरे भैया आप हो सॉरी भैया गलती हो गयी और उन्होंने कहा कि भैया हमे नहीं पत्ता था कि आप हो वरना हम इसके लिए कभी नहीं आते | तो मैंने कहा कि देखो ये लड़की (मैंने इशारा दे कर जानवी को बुलाया) मेरी जान है मैं इससे बहुत प्यार करता हूँ | तुम लोग तो मेरे बारे में जानते हो न तो इसको भी बताओ मेरे बारे में नहीं तो अगली बार इसको मौका भी नहीं मिलेगा और ये कब कहा गुल हो जायगा पता भी नहीं चलेगा | उसके बाद वो सब वहां से निकल गये | तो मैंने कहा कि जानवी चलो मैं घर छोड़ देता हूँ | तो उसने मना कर दिया और कहा कि तुम ने मुझे ऐसा क्यूँ बोला कि मैं तुम्हारी जान हूँ और तुम मुझसे बहुत प्यार करते हो | तो मैंने कहा कि जानवी मैं तुमसे सच में प्यार करता हूँ और शादी करना चाहता हूँ | तब उसने कहा कि मैं घर जा रही हूँ | मैंने भी उसे नहीं रोका पर उसके घर तक पीछा करते हुए गया |  कुछ दिन तक बस वो मुझे नोटिस ही कर रही थी मैं बात करने कि कोशिश करता पर वो मुझे अवॉयड करने लगी पहले की तरह |

ऐसे ही समय बीत रहा था | हमारी बात नहीं हो रही थी | एक दिन मैं अपने केबिन में लंच कर रहा था तो जानवी मेरे पास आई और कहा कि मैं यहाँ बैठ सकती हूँ तो मैंने कहा कि हाँ हाँ श्योर ! और फिर हम साथ में लंच करने लगे | तब उसने जवाब दिया कि मैं भी तुमसे प्यार करने लगी हूँ | सॉरी मैं इतने टाइम से अवॉयड कर रही थी | मैंने कहा कि कोई बात नहीं पर क्या तुम मुझसे शादी करना चाहती हो ? तो उसने शरमाते हुए हाँ में जवाब दिया | अब मेरी गाड़ी पटरी में आ चुकी थी | हम दोनों की कहानी शुरु हो चुकी थी | घूमना फिरना, साथ में लंच तो हम करते ही थे पर अब होटल में भी साथ में जाने लगे | एक दिन हमारी प्लानिंग सेक्स करने के हुई तो उसने अपने घर में मुझे बुलाया |

हम दोनों एक दूसरे को प्यार से सहलाते हुए एक दूसरे के होंठ चूसने लगे | किस्सिंग करने के बाद हम दोनों नंगे हो गये और जब उसने मेरा लंड देखा तो उसकी गांड फट गयी कि इतना बड़ा लंड मैं लूंगी कैसे ? मैंने उसकी ब्रा और पेंटी उतार दिया और उसके दूध को जोर जोर से पीने लगा वो भी आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए मेरा साथ देने लगी | उसके दूध पीने के बाद मैंने उसकी टांगो को उठाया और फैला दिया | अब मैंने अपनी जीभ उसकी चूत में डाल कर चोदने लगा और चाटने लगा उसी चूत अपनी जीभ रगड़ते हुए | वो भी आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए मेरे सिर को सहला रही थी और अपने दूध मसल रही थी | कुछ देर के बाद वो मेरे मूसंड लौड़े को चाटने और चूसने लगी | उसने मेरे लौड़े को करीब 20 मिनट तक बहुत अच्छे से चूसा और गीला कर दिया | फिर मैंने उसकी चूत में अपना लंड डाला तो उसकी चूत से खून बहने लगा और उसकी आँखों से आंसू आ गये | फिर हलकी हलकी धीमी धीमी चुदाई करने में उसे मजा आने लगा तो मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दी और जोर जोर से चोदने लगा और वो भी आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए अपनी गांड उठा उठा के चुदवा रही थी | उसकी मैंने आधे घंटे तक हर एंगल में चुदाई के और अपना स्पर्म उसकी चूत में ही भर दिया था |

कुछ महीने बाद पता चल कि वो प्रेग्नेंट हो गयी है | हमने अपने अपने घर में बात करने लगे और मेरे घर वाले तो मान गये थे | पर उसके घर वाले नहीं मान रहे थे | पर मिन्नते करने के बाद वो भी मान गये | अब हमारी शादी की डेट फिक्स हो चुकी है बस तैयार चल रही है शादी की | तो दोस्तों, ये थी मेरी कहानी | आशा है की आप लोगों को पसंद आई होगी | अपनी अपनी राय देना माय भूलियेगा आप लोग कमेंट में |

और कहानिया

 

4 comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *