ट्रिपल तलाक का खौफ दिखाकर मेरे शौहर ने मुझे अपने सामने दोस्तों से चुदवा दिया

 
 

हेलो दोस्तों, मैं राबिया खान आप सभी को अपनी आप बीती सिर्फ और सिर्फ नॉन वेज स्टोरी डॉट कॉम पर सुना रही हूँ। दोस्तों आज तो जानते ही होंगे की इन दिनों मुस्लिम समाज में ३ तलाक का मुद्दा बहुत उछला हुआ है। हमारे मुस्लिम समाज में औरतो को कोई ख़ास तवज्जू नही दी जाती है। जैसा हमारे मर्द, हमारे शौहर कहते है, हम लडकियाँ वहीँ करती है। मेरी शादी के समय मेरे माँ बाप से कम दहेज़ दिया था। शादी के बाद ही मेरी सास मेरा उत्पीड़न करने लगी और आये दिन कोसने लगी।

जब मैं कुछ जवाब देती तो वो मुझे मारने लग जाती। धीरे धीरे मेरा पति, ससुर और नन्द भी मेरा उत्पीड़न करने लगे। आये दिन सब लोग मुझसे बार बार कहते की मैं अपने अब्बू को फोन करू और ५ लाख रुपए मांगू। मैंने जब मना कर दिया तो आये दिन मुझे मारने पिटते लगे। पहले मेरे पति शराब नही पीते थे, पर धीरे धीरे वो शराब पीने लगे। मैं अपनी अलमारी में जो थोड़े बहुत पैसे छुपाकर रखती थी पति निकाल लेते थे और शराब पी जाते थे। एक दिन उन्होंने मुझसे पीने के लिए पैसे मांगे तो मैंने कहा की पैसा नही है। फिर उन्होंने मेरे बाल खीच खीचकर मुझे मेरे २ बच्चों के सामने मारा। लात और घूसों की बरसात कर दी। मेरे ससुराल वाले पैसे के बड़े लालची थे। आये दिन कुछ न कुछ फरमाईस करते रहते। कभी टीवी मांगते तो कभी कूलर मागंते, कभी सोने की जंजीर मांगते।

दोस्तों मैं उनके सारे जुल्म चुप चाप सह लेती और कभी आवाज नही निकलती। क्यूंकि हम लोगो में तलाक बहुत जल्दी और आसानी से हो जाता है। बस तीन बार तलाक तलाक तलाक बोल दो। कुछ दिन के बाद मेरे सामने वाले घर में एक मेहरुर्निसा नाम की लड़की रहती थी, उसका उसके शौहर से किसी बात पर झगड़ा हो गया और उसने ३ बार तलाक ….तलाक ….तलाक बोल दिया। मेरा पति ये देखकर बहुत खुश हुआ

“राबिया !! अगर तूने अपने घर वालों से ५ लाख रुपए और सामान नही माँगा तो मैं भी तुझे ३ बार तलाक…..तलाक….तलाक बोल दूंगा। दोस्तों जब से मैंने अपने शौहर की बात सुनी मुझे माईग्रेन हो गया। बहुत टेंसन और सर में दर्द होने लगा। मेरा पति दूसरी औरतों की तरह भी मुँह मारता रहता था। वो एक चूत पर टिकने वाला मर्द नही था। वो अक्सर अपनी भाभी को नंगा करके चोदता खाता रहता था। क्यूंकि मेरे शौहर के बड़े भाई सौदिया में काम करते थे। इसलिए भाभी मेरे पति से सेट हो गयी थी और चुपके चुपके खूब चुदवाती थी।

“हनीफ!! तुम ये ठीक नही कर रहे हो। कैसी तुम अपनी जवान बीबी के सामने अपनी भाभी को चोद सकते हो?? …..अगर चोदना है तो मुझे चोदो!!” मैंने एक दिन ऐतराज किया। उसके बाद तो दोस्तों मेरे पति ने मुझे लाठी डंडे से मारा।

“छिनाल!! तुझे मैंने इतना चोदा है की अब तेरे भोसड़े में कोई मजा नही रहा है। २ बच्चे पैदा होने के बाद तो तेरी बुर पूरी तरह से ढीली हो चुकी है। तुम क्या खुद को करिश्मा कपूर समझती हो जो मैंने तुमको चोदो। देख रंडी!! अगर तूने मुझे दोबारा टोका तो मैं तुझे तलाक तलाक ….तलाक बोल दूंगा और तुझे इस घर से निकाल दूंगा!!” हनीफ [मेरा शौहर] दांत पीसकर बोला। मैं डरती थी की कहीं उसने मुझे तलाक दे दिया तो मैं कहाँ जाऊँगी और इन २ बच्चों का पेट कैसे पालूंगी। उसके बाद दोस्तों मैंने अपने शौहर से कुछ भी कहना बंद कर दिया। वो अपनी भाभी को चोदे या अपनी माँ चुदाये। मैं उससे अब कुछ नही कहती थी। एक दिन मेरे सास, ससुर और नंद, कहीं बाहर गये थे। हनीफ को अपनी भाभी चोदने का मस्त मौका हाथ लग गया। वो तुरंत अपनी भाभी के कमरे में चला गया और उनकी साड़ी उतारकर उसे चोदने लगा।

“आऊ आऊ …..हूँ हूँ ….उंहू..उनहूँ….माँ माँ …आ आ” की तेज आवाजे मैं साफ़ साफ़ सुन सकती थी। क्यूंकि बगल वाला कमरा मेरा था। पर मैंने कुछ नही कहा। मैंने अपनी कान में रुई पेल ली और अपना काम करने लगी। शाम को हनीफ अपने दो दोस्तों के साथ घर पर आया। मेरी भाभी कही बाहर गयी थी थी। हनीफ ३ किलो बकरे का गोश लेकर आया था। उसने मुझसे मटन और बिरयानी बनाने को कहा। मैं चुप चाप उसका कहा मान गयी और खाना पकाने लगी। उसके दोस्तों का नाम नादीम और अल्ताफ था। मेरे शौहर मेज कुर्सी पर बैठ गये। मैं उन दोनों को खाना खिलाने लगी। मेरे हाथों का मटन और बिरयारी खाकर वो मेरी तारीफ़ करने लगे। मेरे शौहर, नदीम और अल्ताफ ने जी भरकर खाना खाना खाया।

“वाह भाभी!! तुम्हारे हाथों में तो जादू है….जी करता है की तुम्हारे हाथ चूम लूँ!” नादिम बोला

“…तो इसमें सोच क्या रहे हो, चूम लो ना” मेरा कमीना शौहर हनीफ बोला। उसने जबरदस्ती मुझे नादिम के पास बुलाया और मेरे हाथ चुमवा दिया। मुझे ये सब बिलकुल अच्छा नही लगा

“भाई!! तेरी औरत तो बड़ी मस्त माल है, हमसे चुदवा दे इसे, पुरे १ १ लाख मैं और अल्ताफ तुझे देंगे!!” नदीम बोला।

जब मैंने ये बात सुनी तो मेरी गांड फट गयी। इसका मतलब ये लोग अच्छे आदमी नही है, मैंने सोचा

“ तुम लोग मेरी बीबी को चोदने के १ १ लाख रुपए दोगे???” मेरे शौहर ने नदीम से पूछा

“हाँ !! यार, हमे तेरी औरत बहुत पसंद आ गयी है….जरा मम्मे तो देखो इसके!!” नादीम बोला।

उधर अल्ताफ ने अपनी जेब से ५० हजार एडवांस टेबल पर रख दिए। मेरा शराबी पति पैसो के देखकर ललचा गया। वो सोचने लगा की २ लाख रुपए में तो वो ३ महीना रोज शाम को इंग्लिश वाली शराब पी सकता है।

“दोस्तों…..जाओ चोद लो मेरी औरत को!!” मेरा शौहर बोला। नादिम और अल्ताफ मेरे पास आने लगे।

“नही ऐसा मत करो…..मैं शादी शुदा औरत हूँ….मेरे साथ धन्धा मत करो। मुझे मत चोदो!!” मैंने रोने लगी और नदीम और अल्ताफ के आगे हाथ जोड़ने लगी।

“अरे भाभी जान!!….इसमें क्यूँ शर्म करती हो। भाभियाँ तो देवर का लंड खाती रहती है। एक बार हम दोनों से चुदवा लो तो बार बार हमे बुला बुलाकर चुदवाया करोगी” नादिम बोला। मैं नही नही करती रही और रोटी नही। पर मेरी किसी ने नही सुनी। मेरे शौहर हनीफ के सामने ही उसके मादरचोद दोस्तों ने मेरे सारे कपड़े फाड़ दिए और मेरी साड़ी निकालकर फेक दी। मैंने काली रंग की ब्रा और चड्ढी पहन रखी थी। नादिम ने मुझे कसके पकड़ लिया और अल्ताफ ने मेरी ब्रा और पेंटी फाड़ दी। मैं पूरी तरह से नंगी हो गयी। उधर मेरा पति उन ५० हजार रुपयों को लेकर शराब पीने चला गया। नादिम और अल्ताफ मुझे कमरे में खींच ले गये और मेरे एक एक अंग को चूमने लगे। नादिम मेरे उपर चढ़ गया और जबरदस्ती मेरे होठ पीने लग गया। मैं रो रही थी।

“प्लीस!! तुम लोग रिश्ते में मेरे देवर लगते हो, प्लीस….मुझे मत चोदो!!” मैं बार बार उन दोनों से हाथ जोड़ रही थी और फूट फुट रो रही थी। पर किसी ने मेरी बात नही सुनी। नादिम मेरे नर्म नर्म ताजे होठ पीने लगा। उधर अल्ताफ मेरी पीठ सहलाने लगा। फिर नदीम मेरे दूध पीने लगा। उन दोनों ने अपने अपने कपड़े निकाल दिए और नंगे हो गये। ओह्ह्ह्ह …..तेरी तो….कितने बड़े बड़े लंड थे उन दोनों के। नादीम ने मेरे ३६” के दूध को मुँह में भर लिया और मजे से पीने लगा। मैं अभी भी रो रही थी। मेरा शौहर कितना बड़ा हरामी है, आज मुझे पता चला। जब मैंने उसको अपने मायके से पैसे लाकर नही दिए तो हमारी ने मुझे २ लाख रुपए के लिए अपने दोस्तों को बेच दिया।

जब नादिम ने मेरे मस्त मस्त दूध पी लिए तो अल्ताफ आकर मेरे दूध पीने लगा। नादिम मेरी चूत में ऊँगली करने लगा। दोस्तों, मैं बड़ी साफ सफाई वाली औरत थी इसलिए हमेशा झाटे बनाकर रखती थी। मेरी चूत पूरी तरह से बिलकुल साफ़ थी और बहुत सेक्सी लग रही है।

“ऐ अल्ताफ!! भाभी की चूत देख कितनी सेक्सी है!!” नादिम बोला तो अल्ताफ मेरी बुर के दर्शन करने लगा। वो बड़ी देर तक मेरा रसीला भोसड़ा ताड़ता रहा और उसकी इबादत करता रहा। फिर दोनों मर्द मेरे उपर चढ़ गये। मैं नंगी बिस्तर पर लेती हुई थी। दोनों मेरा एक एक दूध मुँह में भरकर पीने लगा। मैं लगातार रो रही थी क्यूंकि मैं अपने पति की तरह कोई बदचलन इंसान नही थी की किसी से भी मैं चुदवा लूँ। नादिम और अल्ताफ दोनों मेरी एक एक छाती मुँह में भरकर पी रहे थे। और मेरी चूत पर हाथ लगा रहे थे। नादीम का लंड जादा लम्बा था। कुछ देर बाद वो मेरी चूत पर आ गया और मेरा भोसड़ा पीने लगा। मैं नही नही कहती रही, पर उस पर कोई असर नही हुआ। उधर मेरा पति हनीफ शराब की दूकान पर पहुच गया और उसने व्हिस्की की एक बड़ी बोतल खरीद ली नादीम के दिए पैसे से और नीट गटागट पीने लगा। इधर नादीम मेरी चूत पर जीभ लगा लगाकर कीसी कुत्ते की तरह पीने लगा। कुछ देर में उसने मेरे दोनों घुटनों के खोल दिए और मेरी गोरी सफ़ेद भरी जाँघों को देखकर वो ललचा गया। उसने आधे घंटे तक मेरा रसीला भोसड़ा पिया फिर अपना लंड मेरी रसीली चूत में डाल दिया। नादिम मुझे चोदने लगा। मैं इनकार न कर सकू, इसके लिए उसने मेरी दोनों कलाई अच्छे से कसकर पकड़ रखी थी। नदीम मुझे गप्प गप्प चोदने लगा।

मेरे शौहर का दूसरा दोस्त अल्ताफ भी पूरी तरह ने नंगा हो गया था। मैंने देखा की उसका लंड नादिम के लौड़े से १ इंच छोटा था, पर मोटा बहुत था। अल्ताफ मेरे बगल ही बिस्तर पर लेता हुआ था और मेरे मस्त मस्त मम्मे चूस रहा था। मैं नदीम के लौड़े से इस समय चुद रही थी। दोस्तों २० मिनट की नॉन स्टॉप चुदाई के बाद मैं अपनी कमर और गांड उठा उठाकर चुदवाने लगी। मैं बाहर से रो रही थी और दुःख दिखा रही थी, पर अंदर ने मुझे काफी मजा आ रहा था। अगर मैं बिना रोये उनदोनों से चुदवा लेती तो सायद वो मुझे कोई अल्टर या छिनाल समझते। इसलिए मैं ‘हूँ….हूँ…..” करके फूट फूट कर रो रही थी और मजे से चुदवा रही थी।

नादिम का लौड़ा कोई ८” लम्बा था। मेरी चूत १०” गहरी होगी। गप्प गप्प उसका लौड़ा मुझे चोद रहा था। कुछ देर बाद तो नदीम मुझे बहुत जल्दी जल्दी लेने लगा। मेरी चूत में से धुआ निकलने लगा। मेरा रोम रोम खड़ा हो गया उसकी ठुकाई से। चुदते चुदते मुझे पसीना आ गया। कुछ देर बाद नदीम ने गर्म गर्म माल मेरे भोसड़े में छोड़ दिया। जब वो मुझे चोदकर हटा तो अल्ताफ आ गया। मैं जान बूझ कर नखडे मारने लगी। अल्ताफ आकर मेरे उपर लेट गया और मेरी रसीली चूत को पीने लगा। नादिम ने मुझे पूरा १ घंटा चोदा था, मेरी चूत बिलकुल फट गयी थी। अब अल्ताफ मेरी बुर मजे ले लेकर पी रहा था। कुछ देर बाद उसने भी अपना मोटा लौड़ा मेरी बुर में पेल दिया और मुझे बाहों में भरकर चोदने लगा। मैं झूट मूट हल्का हल्का रो रही थी वरना वो दोनों आदमी मुझे कोई अल्टर समझते। दूसरी तरफ मेरे शौहर हनीफ ने पूरी बड़ी बोतल व्हिस्की की गटक ली और नीट पी गया। उसके बाद उसने ४ बड़ी बोतल शराब और खरीदी और घर आ गया। मैं अपने कमरे में चुद रही थी। अब अल्ताफ मुझे नंगा करके चोद रहा था और नादिम मेरे मुँह में लौड़ा डालकर मुझे चूसा रहा था। मेरा शौहर उस कमरे में आ गया जहाँ मेरे साथ कांड हो रहा था।

“हूँ….हूँ….हनीफ !! मुझे बचाओ…..इन हैवानो से। ये ५ घंटे से मुझे चोद रहे है…..चूत में बहुत दर्द उठ रहा है……प्लीस बचाओ मुझे!!” मैं जोर जोर से चिल्लाने लगी और रोने की एक्टिंग करने लगी।

“कुतिया!! तेरी यही सजा है!! अगर तू अपने बाप से ५ लाख रुपए लेकर मुझे दे देती….तो मैं तुझे अपने दोस्तों से कभी नही चुदवाता!” मेरा शौहर शराब ने नशे में झूमता हुआ बोला। फिर वो वही पीकर लुड़क गया। अल्ताफ़ मुझे पक पक करके चोद रहा था। मेरे पेट में मरोड़ उठने लगा और मैं अपनी पेट हवा में उठाने लगी। ये देखकर अल्ताफ बहुत खुश हो गया और जोर जोर से कमर मटकाकर मुझे बजाने लगा। नादिम ने मेरे मुँह में अपना लंड डाल रखा था। अब मेरा पति सो गया था इसलिए कोई टेंसन नही थी। मैं भी नदीम का लंड हाथ से फेटने लगी और मजे लेकर चूसने लगी। अल्ताफ मुझे पेलता रहा। कुछ देर बाद उसने अपना पानी मेरे भोसड़े में छोड़ दिया। फिर वो दोनों मुझे चोदकर वहां से चलते बने। जब मेरे सास ससुर अगले दिन घर लौटे तो मैंने उनको बता दिया की हनीफ ने मुझे २ लाख रुपए में अपने दोस्तों को बेच दिया है। वो मुझे बारी बारी चोद भी चुके है।

दोस्तों, आप विश्वास नही करेंगे ये सुनकर मेरे सास ससुर दुखी नही हुए बल्कि वो बहुत खुश हुए।

“अरी हरामजादी!! तू है ही इस काबिल। चलो कम से कम मेरे बेटे को २ लाख तो मिल गये वरना तेरी कौन चूत मारता!!” मेरी सास किसी रांड की तरह बोली। हनीफ ने उसे १ लाख रुपए दे दिए और बाकी एक लाख रुपए अपने पास रख लिए।

कुछ दिन बाद नदीम और अल्ताफ फिर आये। उसको देखते ही मैं थोडा डर गयी थी।

“भाई !! भाभी की गांड दिला दे!!” नदीम मेरे शौहर से बोला धीरे से कान में

“जाओ राबिया कमरे में लेटी है…..जाओ गांड मार लो जाकर उसकी….मजे करो!!” मेरा कमीना शौहर बोला। दोस्तों मैं रोती रही, सिसकती रही, पर किसी ने मेरी मदद नही थी। मेरे सास, ससुर और नन्द आंगन में बैठे हुए थे। वो ये बात अच्छी तरह जानते थे की नादीम और अल्ताफ मेरे कमरे में मेरी गांड मारने के लिए घुसे है, पर फिर भी मेरी सास कुछ नही बोली। १ लाख रुपए जो उसको मिल गये थे। नदीम ने मेरे कपड़े जबरदस्ती उतरवा दिए और मुझे घोड़ी बना दिया। जबरदस्ती मेरी गांड में उसने अपना ८” लम्बा लंड डाल दिया और मुझे चोदने लगा। मेरी गांड मारने लगा। उसने और अल्ताफ दोनों ने १ १ घंटे मेरी गांड मारी और छेद बहुत मोटा कर दिया। १५ दिन तक वो दोनों मुझसे अपनी हवस शांत करते रहे, कभी चूत मारते, कभी गांड मारते। एक दिन मैंने पति से कह दिया की मैं पुलिस में शिकायत कर दूंगी।

“छिनाल!! तू पुलिस में जाकर तो देख। थाने में ही मैं तुझे ३ बार तलाक….तलाक……तलाक कह दूंगा और तलाक दे दूंगा” मेरा शौहर हनीफ बोला। कहानी आपको कैसी लगी, अपनी कमेंट्स नॉन वेज स्टोरी डॉट कॉम पर अवश्य दें।

और कहानिया

loading...

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *