मेरी चूत एक दम टाइट है

 
 

मेरा नाम अमरीन है. मैं अभी भी वर्जिन हूँ, मैं सेक्स करना चाहती हूँ, पर अभी तक कोई मिला ही नहीं.

आई ऍम फ्रॉम दिल्ली एंड आई ऍम १९. मेरी फिगर ३८- ३०- ३८ है. मैं मोटी हूँ, पर सुंदर हूँ, ऐसा मेरे फ्रेंड बोलते है. शायद उन्हें मेरे बूब्स और अस्स बहुत अच्छी लगती हो.

ज्यादा टाइम न वेस्ट करते हुए मैं सीधा स्टोरी पर आती हूँ. मैं कॉल सेंटर में जॉब करती हूँ. एंड मेरी मोस्टली नाइट्स शिफ्ट्स होती है. अभी मेरी ट्रेनिंग चल रही है क्यूंकि मैंने अभी एक न्यू कंपनी जो गुडगाँव में है वह ज्वाइन किया है.

यहाँ मेरे बैच में २३ लोग है जिन में से सैलरी उठा के जाने के बाद १९ रह गए है. हम लोग ट्रेनिंग में १ महीने से है. बहुत मज़ा आता है ट्रेनिंग में. एक लड़का है गौरव, लड़का तो नाम का है वैसे वो ३३ साल का है तो आप आदमी भी कह सकते है. अच्छी बॉडी है उसकी तो आप कह नहीं सकते कि वो इतना बुड्ढा होगा. जवान दीखता है, मुझे बहुत अच्छा लगता है.

कल फ्राइडे नाईट हम लोग फर्स्ट टाइम बहार घुमने गए. पूरा बैच गया था, मैंने बहुत जयादा पी ली थी. और गौरव ही मुझे संभाल रहा था. वो मुझे निचे गाडी तक ले गया, उस में बिठाया और फिर मुझे घर छोड़ने जाने लगा. मैं बता दू आपको की मैं अकेली रहती हु

घर पे जब वो मुझे उठा के बेड पे लेटा रहा था मैंने उसको हग कर लिया और कहा प्लीज आज यही रुक जायो, मेरी रूम मेट भी घर पर नहीं है. उसने कहा ठीक है, मैं दुसरे रूम में सो जाता हूँ. मैंने ज़बरदस्ती करी कि नहीं यही सो जायो. तो वो मेरी बात मान कर मेरी बगल में लेट गया. मैं भी सो गयी.

थोड़ी देर बाद मुझे फील हुआ की कोई मेरी चूत में उंगली कर रहा है. मैंने देखा तो गौरव अपना लंड जो कि ८.२ इंच लुम्बा था और करीब २.५” मोटा होगा उसे हिला रहा था और मेरी चूत में उंगली कर रहा था. मैं उसका इतना बड़ा लंड देख कर हैरान रह गयी. मैंने उससे कहा यह क्या कर रहे हो, तो बोला कुछ नहीं. तू सो जा..

मुझे भी अच्छा लग रहा था तो मैं भी सोने का नाटक करने लगी. सो कर मेरा दारू का नशा हल्का होने लगा था और करीब १ घंटे बाद मुझे फील हुआ की कोई मेरे ऊपर है और मैंने देखा तो मैं पूरी नंगी थी और गौरव मेरे बूब्स चूस रहा था. मैं भी उसके बाल अपने हाथो से सहलाने लगी. और मजे लेने लगी और अब वो और जोर से करने लग गया.

मुझे बहुत मज़ा आ रहा था. मैं फुल फील में उससे अपने बूब्स चुसवा रही थी. फिर उसने मेरी पूरी बॉडी पर किस करना शुरू किया. वाह… क्या एहसास था. और मैं गरम होने लगी.

antarvasna,Kamukta,kamukta. com,hindi sex story,hindi sex stories,xxx kahani

फिर हम ६९ की पोजीशन में आ गए. और वो मेरी सेक्सी चूत चाटने लगा और मैं उसका लंड अपने मुह में लेकर चूसने लगी. लगभग १ घंटे तक हम इसी पोजीशन में एक दुसरे के जिस्म से खलते रहे. और दोनों ही ३ बार झड चुके थे.

उसके पास कंडोम था तो उसने निकला और लगाया और फिर अपना बड़ा सा लंड मेरी चूत पर रगड़ने लगा. मेरी चूत एक दम टाइट थी क्यूंकि मैं अभी तक वर्जिन थी. उसने जोर का धक्का लगाया और अपना लंड अंदर डालने लगा. मुझे बहुत दर्द हो रहा था पर मज़ा भी आ रहा था. उसने १० धक्को में अपना पूरा लंड मेरी चूत में डाल दिया.

और एक घंटे तक मुझे चोदता रहा. बहुत मज़ा आ रहा था, मैं बस अह्ह्ह्ह….. ऊऊओ… कम ओन गौरव…. फक मी हार्डर ……  उम्म्म्मम्म…… करे जा रही थी. हम दोनों ही फुल जोश में थे. बहुत मज़ा आ रहा था. जब वो झड गया तो मैंने उसका लंड फिर से चुसना शुरू कर दिया. क्यूंकि मेरा मन अभी नहीं भरा था.

जब मैं उसका लंड चूस रही थी तो मेरे घर की बेल बजी, मैं पहले तो घबरा गयी कि इस वक़्त कौन आया है. फिर मैंने अपनी नाईटी पहनी और देखने गयी और डोर खोला, तो सामने अंकित खड़ा था. यह भी मेरे ऑफिस में है और मेरे बैच का सब से हैण्डसम लड़का है. उसे देख के मैं दंग रह गया.

मैंने उसे अंदर बुलाया, पानी दिया और बोला के तू रुक मैं आती हूँ. और मैं फटाफट गौरव के पास गयी और उसे बताया की अंकित आया है. मैं तो बिलकुल हडबडा गयी थी. गौरव बोला चिल्ल, तूने उसे बताया तो नहीं की मैं यहाँ हूँ. मैंने कहा नहीं. वो बोला अच्छा किया, अब मैं पीछे के दरवाज़े से चला जाता हूँ. फिर वो पीछे से चला गया.

मैं जल्दी से अंकित के पास पहुची तो उसने मुझ से पुछा की तेरी दारू उतर गयी. मैंने बोला हा, सो गयी थी ना, इसलिए. अंकित ने पुछा और पीयेगी? मेरा अभी भी सेक्स करने का मन था तो मैंने कहा हां थोड़ी सी पी लुंगी. हमने खूब सारी दारू पी और हम फिर से टल्ली हो गयी. वो मेरे पास आकर बैठा और बोला अमरीन आई लाइक यु. मैंने भी कहा आई लाइक यु टू.

फिर वो बोला मुझे पता है की गौरव यहाँ था और तुम दोनों ने सेक्स किया था. अब मुझे भी तेरे साथ करना है – सेक्स. मैंने बोला ओके. मैं तो चाहती ही थी और सेक्स करना. फिर हम इस्मूच करने लगे. एंड फिर उसने मेरी नाईटी  उतार दी. मैंने भी उसके सारे कपडे उतार दिए.

वो बहुत सेक्सी लग रहा था. उसने जैसे ही मेरी चूत देखि उसे खाने लगा. कहता यह बहुत टेस्टी है. अब पता चला गौरव ने तुझे क्यों चोदा.

उसने मेरी चूत लगभग २ घंटे तक चाटी थी. फिर वो थक कर लेट गया. फिर मैंने उसके लंड को जोकि ७ इंच लम्बा था वो चूसा करीब ३० मिनट तक. और जब वो चूसते चूसते झड गया तो मैं उसके लंड पर बैठ गयी और ऊपर निचे होने लगी.

बहुत मज़ा आ रहा था. मन कर रहा था पूरी लाइफ ऐसे ही कूदती रहू. २० मिनट बाद में मैं झड गयी. फिर उसने मुझे लिटाया और मेरे को चोदने लगा. मैं बहुत थक गयी थी. ३० मिनट चोदने के बाद वो मेरे ऊपर ही लेट गया.

मैंने टाइम देखा तो सुबह के ५ बज गए थे. वो मेरे ऊपर से उठा कर साइड में सो गया. और मैंने यह स्टोरी लिखनी शुरू कर दी.

और कहानिया

loading...
2 Comments
  1. Rk Kaushik
    July 30, 2017 | Reply
  2. August 4, 2017 | Reply

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *