खुले मे सेक्स Archive

कॉलेज में हुई रैंगिंग की कहानी

मेरा नाम मधु है. मैं साउथ इंडिया के एक काफ़ी रिप्यूटेड मॅनेज्मेंट कॉलेज मैं सेकंड इयर मैं पढ़ती हू. आज मैं आपको आपनी रॅगिंग की कहानी सुनने जा रही हू. उम्मीद है आप लोगों को पसंद आएगी.

मेरी किस्मत वाली रात

मैं एक शादीशुदा औरत हूँ, मेरे पति एक व्यापारी हैं जो ज्यादातर घर से बाहर ही रहते हैं। वो मुझे सुख नहीं दे पा रहे थे, मैंने सोचा कि अब मुझे भी कहीं ना कहीं जुगाड़ करना

सेक्सी मल्लू आंटी के साथ रोमांस और सेक्स

नहीं यह मल्लू आंटी कोई चुदक्कड़ माल नहीं था. यह तो मेरे दोस्त विवेक की मम्मी थी जो उस रात कुछ बेकाबू हो गई थी बस. मैं उसकी चूत में अपना लंड देने की फिराक में था

प्रमोशन के लिए चुद गयी

मेरी उम्र छब्बीस साल है और मैं सरकारी दफ़्तर में ऑडिटिंग ऑफिसर हूँ और हमारे दफ़्तर की शाखायें पूरे देश में हैं और अक्सर मुझे काम के सिलसिले में दूसरे शहरों की शाखाओं में दो-तीन महीनों के

मसाज के नाम पर जिम वाली आंटी की चुदाई

जिम आजकल का फ़ैशन हो गया है, क्या लड़के या लड़कियां, अधेड़ और यहाँ तक कि 60 वर्ष के बूढ़े जवान भी अब जिम का मह्त्व समझने लगे है। मेरे पिता ने यह जिम 20 वर्ष पहले

लंड से निकलती पिचकारी ने घमंड तोडा

वो मेरे पड़ोस की 21 साल की देसी लड़की- प्रगति, बहुत इठलाती थी और मुझे परेशान कर रही थी। हालाकि मैं उसे चोदने के मूड में नही था लेकिन उसने हद कर दी थी। जब भी वो

मौसी और मैंने साथ में चूत चुदाई

एक हैं मेरी बुर-चोदी फ़रजाना खाला (मौसी) जो हर समय चोदा-चोदी की ही बातें करती रहती हैं। जब हम तीन चार सहेलियाँ एक साथ बैठ कर बातें करती हैं तो फ़रजाना भोंसड़ी की हमेशा अश्लील बातें शुरू

मेरे घर में बनायीं ब्लू फिल्म

मैं आज से एक हफ़्ता पहले हॉस्टल से घर वापिस गया तो मेरी ज़िंदगी ही बदल गयी। मैं अपनी पढ़ाई खत्म कर चुका था और अपनी बहन और माँ के पास जा रहा था। मैने फोटोग्राफी का

ब्रा खरीदने आई एक रांड की कहानी

एक कहानी श्रद्धा नाम की लड़की की है, वो एक भरी हुई लड़की है और उसका फिगर है ३६-३०-३८. उसकी बड़ी तरबुच जैसी चुंचिया हाय हाय और उसकी मस्त मोटी गांड किसी का भी लंड तोड़ दे.

चूत में अपना मुंह घुसा दिया

दोस्तों !दोस्तों यह कहानी मेरे एक दोस्त के दोस्त ने मेल किया था उन्ही की जुबानी , मेरा नाम राजन है और आज मैं आपको अपने साथ हुए एक हसीन हादसे की कहानी सुना रहा हूँ !