अपने लड़के की टीचर को अपनी बीबी बनाया

desi sex kahani हेल्लो दोस्तों कैसे हो आप सभी लोग ? मैं आशा करता हूँ की आप सभी लोग ठीक ही होगे | आप सभी लोगो को चुदाई करना तो पसंद ही होगा और मैं उम्मीद करता हूँ की आप सभी लोग चुदाई करते होगे | मैं यही भगवान से प्रथना करता हूँ की आप सभी लोग अपनी लाइफ में खुश रहे और सबको खुश रक्खे | दोस्तों मुझे भी आप लोगो की तरह चुदाई करना बहुत पसंद है और मैं चुदाई करता हूँ | दोस्तों मैं अपनी कहानी को आगे बढ़ाने से पहले अपने बारे में बता देता हूँ | मेरा नाम प्रताप है और मैं रहने वाला भोपाल के पास एक छोटा सा गाँव पड़ता है वहां का हूँ | मेरी उम्र 28 साल है और मैं दिखने में बहुत सुन्दर हूँ | मेरी बॉडी भी ठीक ठाक है जिससे मैं स्मार्ट भी लगता हूँ | मेरी हाईट 5 फुट 8 इंच है और मेरी हाईट के हिसाब से बॉडी काफी ठीक है | मेरी शादी हो चुकी है और मेरी शादी के बाद मेरी बीबी ने एक लड़के को जन्म दिया था | लड़के को जन्म देने के ४ महीने बाद मेरी बीबी की मौत हो गयी थी जिससे मेरे लकड़े का सारा भर मुझ पर आ गया था इसलिए मैं अपने लडके के साथ रहता था | मैं अपने लड़के को ऐसे ही कुछ दिनों तक देख भाल करता रहा | फिर मेरे घर वाले मुझसे दूसरी शादी करने के लिए कहने लगे पर मैं अपनी बीबी से बहुत प्यार करता था इसलिए मैंने दूसरी शादी नही की और अपने लड़के को अपने साथ लेकर दुसरे शहर चला आया | मैं यहाँ पर अपना खुद का काम करने लगा और कुछ ही टाइम में एक घर ले लिया |
फिर मैंने अपने लड़के का नाम एक स्कूल में लिखा दिया | जब वो पढने जाने लगा तो मैं उसे कुछ दिन तो रोज स्कूल छोड़ने जाता था और शाम को लेने जाता था जिससे मुझे मेरे काम का नुकशान भी हो जाता था | मैं जब उसको छोड़ने जाता था तो एक मैडम थी जो मेरे लकड़े का बहुत ख्याल रखती थी | वो मुझे भी अच्छी लगती थी और मेरे लड़के को भी तो मैंने उनसे एक दिन बात की की क्या आप मेरे लकड़े को कोचिंग दे सकती हो | वो मेरे लकड़े को घर पर पढ़ाने के लिए मान गयी और उस दिन से मैं उसको सुबह छोड़ आता था और शाम को वो अपनी मैडम के साथ आ जाता था | वो मेरे लकड़े को मेरे घर पर रोज ही पढ़ाने आने लगी | जब मैं शाम को घर आता तो देखता की वो मेरे बच्चे का बहुत ध्यान रखती थी और मैं ये देख कर बहुत खुश होता की वो मेरे बच्चे को मम्मी का प्यार देने लगी थी | मैं ये सब देख कर भूल गया था की मेरे लकड़े की माँ नही है और मैं अब बहुत खुश था | जब उनका महिना पूरा हुआ तो मैं उनको कोचिंग की फ़ीस देने लगा तो वो बोली की आप मुझे मेरी मेहनत की फ़ीस दे सकते हो मगर मैं जो प्यार करती हूँ तुम्हारे लड़के से आप उसकी कीमत नही दे सकते हो | वो ये बात कहकर चली गयी | जब वो दुसरे दिन मेरे घर आई तो मैंने उनसे कहा की आप को अपनी फ़ीस तो लेनी होगी | दोस्तों मैं कुछ भी बताने से पहले मैडम के बारे में बात देता हूँ |
उनका नाम नीलम था और वो एक भारतीय नारी थी | वो दिखने में बहुत सुन्दर लगती थी | जब नीलम ने अपनी फ़ीस लेने से मना कर दिया और कहा की मैं रुपयों के लिए नही आती हूँ | मुझे सूरज बहुत अच्छा लगता है इसलिए मैं आती हूँ | नीलम की ये बाते सुनकर कर मुझे उससे प्यार हो गया और तब मैंने सोच लिया की मैं अब एक दिन सही मौका देखकर नीलम से शादी की बात कर लेता हूँ | फिर मैंने उसके कुछ दिन बाद जब वो मेरे घर पर थी तो मैंने नीलम से कहा मैं आप से एक बात करना चाहता हूँ |
नीलम – जी हाँ बोलिए क्या बात है ?
मैं – रहने दीजिये फिर कभी बात करता हूँ |
नीलम – अरे आप कहिये तो क्या बात है ?
मैंने तब बहुत हिम्मत की और उनसे शादी के लिए कहा तो वो बोली की मैं अपनी मम्मी से पूछ कर बताती हूँ | तब उसने मुझे उसके कुछ दिन के बाद बताया की मेरी मम्मी ने हाँ कहा है और वो आपसे मिलना चाहती है | मैं उस दिन नीलम के साथ नीलम की मम्मी से मिलने गया | तब उनकी मम्मी ने मुझसे कुछ सवाल पूछे |
नीलम की मम्मी – बेटा तुमने अभी तक दूसरी शादी क्यूँ नही की थी ?
मैं – मम्मी जी क्यूंकि मैं अपने बेटे को खुश देखना चाहता था और वो प्यार हर औरत नही दे पाती इसलिए |
तब नीलम की मम्मी ने मुझसे कहा की तो अब तुम मेरी लकड़ी से शादी क्यूँ करना चाहते हो तो मैंने बता दिया की वो प्यार मुझे नीलम की आँखों में दिखा इस लिए मैं नीलम से शादी करना चाहता हूँ | तब नीलम की मम्मी ने मुझसे कहा ठीक है |

दोस्तों मैं नीलम की मम्मी को बहुत पसंद आया था और उस दिन के कुछ दिन बाद मेरी शादी नीलम से हो गयी | उस रात जब मैं नीलम के पास गया और लेट गया तो नीलम मेरे सर को अपने पैरो पर रख लिया और मेरे सर को सहलाने लगी | वो मेरे सर को सहला रही थी और मैं उसको बड़े प्यार से देख रहा था | फिर मैंने उसको पकड कर लेटा दिया और उसकी गुलाबी होठो को अपनी ऊँगली से सहलाते हुए उसकी होठो पर अपनी होठो को रख दिया | मैं उसकी होठो पर अपनी होठो को रख कर उसकी रसीली होठो को चूसने लगा और वो मेरी होठो को चूसने लगी | वो आज मुझे बहुत अच्छी लग रही थी और मैं उसकी होठो को चूस रहा था | वो मेरी होठो को अपने मुंह में रख कर चूस रही थी | मैं उसकी होठो की लिपस्टिक को कुछ ही देर में चूस डाली और फिर उसके बूब्स को ब्लाउज के ऊपर से दबाते हुए उसकी होठो को चूस रहा था | मैं उसकी होठो को कुछ देर तक चूसने के बाद उसकी साड़ी उतार दी | मैं उसकी साड़ी को उतारने के बाद उसका ब्लाउज और पेटीकोट को खोल दिया जिससे वो मेरे सामने ब्रा और पैंटी में आ गयी | वो ब्रा और पैंटी में बहुत सेक्सी लग रही थी और मैं उसके बूब्स को ब्रा के ऊपर से दबाने लगा जिससे उसके मुंह से तेज सांसे निकलने लगी |

मैं उसकी तेज संसो को सुनकर और जोश में आ गया और उसकी ब्रा को खोल दिया | फिर उसके एक दूध को मुंह में रख कर जोर जोर से चूसने लगा और दुसरे दूध को हाथ में पकड कर मसलने लगा | वो अह अह अह उई उई अहं…. हाँ हाँ हाँ उई उई ह ह ह उई…… अं हु हूँ हूँ हूँ उई हाँ…. की आवाजे करने लगी | मैं उसके दोनों बूब्स को ऐसे ही कुछ देर तक मुंह में रख कर एक एक करके चूसता रहा | फिर उसकी पैंटी को निकाल कर उसकी टांगो को फैला दिया और उसकी चूत में अपनी जीभ को घुसा कर चाटने लगा | मैं उसकी चूत को चाटने लगा तो उसके मुंह से मदहोश करने वाली आवाजे निकलने लगी | मैं उसकी वो आवाजे सुनकर उसकी चूत में अपनी ऊँगली भी घुसा दी तो वो मचल गयी और बिस्तर पर इधर उधर होने लगी | मैं उसकी चूत में ऊँगली को घुसा कर जोर जोर से अन्दर बाहर करते हुए उसको ऊँगली से चोद रहा था | वो बिस्तर को कस के पकड कर तडफ रही थी | तब मैंने अपने कपडे निकाल दिए और अपने लंड को उसके हाथ में पकड दिया | वो मेरे लंड को हाथ में पकड कर घुटनों के बल बैठ कर चूसने लगी | वो मेरे लंड को मुंह में रख कर जोर जोर से अन्दर बाहर करती हुई चूसने लगी | मैं अपने लंड को उसके मुंह में डाल कर धीरे धीरे अन्दर बाहर करते हुए चूसा रहा था | वो मेरे लंड को ऐसे ही कुछ देर तक चुसने के बाद मैंने उसकी चूत के मुंह पर लंड को रख कर धीरे से घुसा दिया |
उसकी चूत पूरी तरह से गीली थी जिससे मेरा लंड एक ही धक्के में घुस गया | मेरा लंड जैसे ही उसकी चूत में घुसा तो वो उछल गयी और जोर की दर्द भरी आवाज निकल गयी | मेरा लंड उसकी चूत में पूरा घुस गया था और उसकी आँखों में पानी आ गया | वो दर्द की वजह से कुछ देर तक कुछ नही बोल पाई और फिर वो सेक्सी आवाजे करने लगी | जब वो सेक्सी आवाजे करने लगी तो मैं उसकी पतली कमर को पकड कर जोरदार धक्को के साथ अन्दर बाहर करते हुए उसको चोदने लगा | वो मस्त सेक्सी आवाजे करती हुई चुदने लगी | मैं उसकी कमर को पकड कर उसकी चूत में जोरदार धक्के मार रहा था वो मेरे हर धक्के पर सेक्सी आवाज करती हुई चुद रही थी | मैं उसकी चूत में ऐसे ही 10 मिनट तक जोरदार धक्के मारता रहा जिससे उसकी चूत से गर्म पानी की धार निकल गयी और वो झड़ गयी | जब वो झड़ गयी तो मैंने उसे घोड़ी की तरह घड़े कर दिया | वो ठीक घोड़ी की तरह खड़ी हो गयी | फिर मैंने उसकी चूत में पीछे से लंड को घुसा कर जोरदार धक्को के साथ अन्दर बाहर करते हुए चोदने लगा | मैं उसको ऐसे ही जोरदार धक्को के साथ कुछ देर तक चोदता रहा जिससे मेरे लंड का पानी निकल गया | मैं अपने लंड का सारा पानी निकाल दिया | फिर हम दोनों लेट गए और कुछ देर बाद सो गए | अब मैं उसको रोज ही चोदता हूँ और वो मुझे और मेरे लडके को बहुत खुश रखती है |
ये थी मेरी कहानी | मैं उम्मीद करता हूँ की आप लोगो को मेरी कहानी पसंद आई होगी | धन्यवाद……………..

और कहानिया

 

One comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *