भाभी के साथ बाथरूम में किया सेक्स

desi bhabhi हेल्लो दोस्तों कैसे हो ? आशा करता हूँ की आप सभी लोग ठीक ही होगे | दोस्तों मैं आज सेक्सी कहानी के पाठको के लिए एक कहानी लेकर आया हूँ | आप सभी लोगो की तरह मुझे भी सेक्सी कहानी पढ़ना पसंद है और मैं अभी तक न जाने कितनी कहानी पढ़ कर उनका मज़ा ले चूका हूँ | मुझे सेक्सी कहानी पढ़ाने में बहुत मज़ा आता है और उन कहानियों को पढ़ कर मेरे भी मन में अपनी कहानी लिखने की इच्छा जाग जाती | मैं आज अपनी कहानी लिखने जा रहा हूँ | दोस्तों में जो आज कहानी लिखने जा रहा हूँ | ये मेरे जीवन की सच्ची कहानी है | मैं अपनी कहानी को शुरू करने से पहले अपने बारे में बताना चाहता हूँ | मेरा नाम अरियन है | मेरी उम्र 22 साल है | मैं रहने वाला एक बड़े शहर का हूँ | मेरी हाईट 6 फुट 3 इंच है | मेरा रंग गोरा है और मैं दिखने में बहुत स्मार्ट लगता हूँ | मैं अभी पढाई करता हूँ और मैं बी कॉम में पढता हूँ | मैं अब आप लोगो का ज्यादा टाइम न बर्बाद करते हुए सीधे अपनी कहानी पर आता हूँ |

दोस्तों मेरे घर में मेरे बड़े भाई और मेरी भाभी रहती हैं | मेरे बड़े भाई का नाम पंकज है और वो जॉब करते हैं | जिसकी वजह से वो घर में नही रहते हैं | वो हर महीने में घर आते हैं और जब वो घर आते हैं तो 4 – 5 दिन रुकते हैं | दोस्तों मेरे भाई दिखने में अच्छे लगते हैं और उनकी बॉडी भी ठीक है जिससे वो स्मार्ट लगते हैं | मैं कहानी को आगे बढ़ाने से पहले आप लोगो को भाभी के बारे में बात देता हूँ | मेरी भाभी का नाम नेहा है और वो दिखने में किसी पारी से कम नही लगती | दोस्तों मेरा कहने का मतलब है की वो घर में सबसे गोरी है जिसकी वजह से वो सोने की तरह चमकती हैं | उनका फिगर सेक्सी है | उनके बड़े बड़े बूब्स जो देखने में लगते हैं की वो ब्लाउज को फाड़ कर अभी बाहर आ जायेंगे | भाभी की गांड की तो बहुत सेक्सी है | भाभी की गांड को देखकर किसी 60 साल के बूढ़े आदमी की भी जवानी वापस आ जाये | वो ऊपर से नीचे तक हुस्न की मल्लिका है | मेरी भाभी जो है वो मेरा पूरा ध्यान रहती है | दोस्तों इसकी वजह ये हैं की मेरे बड़े भैया तो पुरे महीने बाहर ही रहते हैं | घर में मेरे अलावा और कोई तो रहता नही है |

मेरी भाभी जब घर में अकेले बोर होने लगती हैं तो मेरे साथ मस्ती करने लगती है | भाभी मुझसे बहुत मजाक किया करती हैं और मैं उनसे मजाक किया करता हूँ | एक दिन की बात है जब में अपने कॉलेज से घर आया तो भाभी बैठी कर कुछ सोच रही थी | वो मुझे आते देख खुश हुई और बोली आ यहाँ बैठ तुमसे कुछ बात करनी है | मैं जाके उनके पास बैठ गया और बोला क्या है भाभी बहुत परेशान लग रही हो |

 

भाभी – नही यार बस घर में अकेले मन नही लग रहा |

मैं – मन नही लग रहा है या भैया की याद आ रही है |

भाभी – चल अरियन तुम्हारे होते भईया का क्या काम ?

दोस्तों भाभी मुझसे मस्ती करने लगी | मैं भी उसने मस्ती करने लगा और बोला की क्यूँ नही भैया का काम है | जो भैया कर सकते हैं वो मैं थोड़े कर सकता हूँ |

भाभी – ऐसा क्या तुम्हारे भैया कर सकते हैं जो तुम नही कर सकते ?

मैं समझ रहा था की भाभी मुझसे मस्ती कर रही है | मैं जो भाभी से कह रहा हूँ | भाभी मेरी बात समझ रही है पर मेरे मुंह से सुनना चाहती हैं | पर दोस्तों मैं उनसे ऐसा कुछ नही कहने वाला था | फिर भाभी मुझसे बोली अरियन बताओ न क्या तुम्हारे भैया कर सकते हैं और तुम वो नही कर सकते हो | मैं बोला कुछ भी नही भाभी मैं तो मजाक कर रहा था | पर वो मेरे पीछे उसी बात को लेकर पड़ी थी और मुझसे बार बार पूछ रही थी | मैं कुछ देर बाद उनसे कह ही दिया की भाभी भैया आपको किस कर सकते हैं पर मैं नही कर सकता | भाभी हँसती हुई बोली क्यूँ नही कर सकते हो और मेरी होठो पर अपनी होठो को रख दिया | वो मेरी होठो पर अपनी होठो को रख कर चूसने लगी | पर मैं कुछ देर बाद भाभी को पीछे किया और कहा भाभी मुझसे दूर हटो | वो मेरी तरफ देख कर बोली मेरी किस में मज़ा नही आया क्या | मैं बोला क्या बोल रही हो भाभी | वो बोली की मेरे कॉलेज टाइम में लड़के मेरे दीवाने थे पर मैं किसी के हाथ नही आई | उस दिन के बात भाभी मेरी होठो पर रोज ही किस कर देती | जब भाभी मेरी होठो पर किस करती तो मेरा लंड खड़ा हो जाता | अब जब तक घर भैया नही रहते तो वो मेरी होठो को चूसती और मैं उनकी होठो को चूसता |

उसके कुछ दिन बाद की बात है जब मेरा मन भाभी की चुदाई का करने लगा | एक दिन मैं बाथरूम में नहा रहा था | मैंने टॉवल बाहर रख दिया और नहाने जा ही रहा था की मैं भाभी से टॉवल माँगा | जब भाभी मुझे टॉवल देने के लिए आई तो मैंने उनके हाथ को पकड कर अन्दर खीच लिया | वो बिना किसी बिरोध के अन्दर आ गयी और दरवाजा बंद कर दिया | मैं भी मौके का फायदा उठाते हुए उनकी कमर में हाथ को डाल कर उन्हें अपनी और खीच लिया | मैं उनको खीचने के बाद मैं उनके लिपट गया और उनकी कमर में किस करने लगा | मैं उनकी कमर में किस करने लगा | वो मेरे सर को पकड कर दबाने लगी | मैं उनकी कमर में किस करने के बाद मैं ऊपर उठा और उनकी होठो पर अपनी होठो को रख दिया | वो मेरी होठो को चूसने लगी | मैं उनकी होठो को मुंह में रख कर चुसने लगा | मैं उनकी होठो को मुंह में रख कर चूसने के साथ उनके बूब्स को कपडे के ऊपर से दबाने लगा | भाभी मेरी होठो को मुंह में रख कर जोर जोर से चूस रही थी | मैं भाभी की होठो को ऐसे ही कुछ देर तक चूसता रहा | फिर मैंने भभी की साड़ी को उतार दिया और भाभी मेरे सामने ब्लाउज और पेटीकोट में आ गयी |

फिर मैंने भाभी के ब्लाउज और पेटीकोट को भी खोल दिया | जब मैंने उनके ब्लाउज और पेटीकोट को खोल दिया तो वो मेरे सामने ब्रा और पैंटी में आ गयी | भाभी का पूरा जिस्म सोने की तरह चमक रहा था बस भाभी के बूब्स और उनकी गुलाबी चूत नही दिख रही थी | मैं उनके बूब्स को ऐसे ही कुछ देर तक ब्रा के ऊपर से दबाता रहा | फिर मैंने भाभी की ब्रा के हुक को खोल दिया | जब मैंने उनकी ब्रा को खोल दिया तो उनके बड़े बूब्स मेरे सामने आ गए | मैं उनके एक दूध को मुंह में रख लिया और एक बूब्स को हाथ में पकड कर जोर जोर से दबाने लगा | भाभी मेरे सर पर हाथ घुमाती हुई मेरे सर को दबा रही थी | मैं उनके बूब्स को ऐसे ही कुछ देर तक चूसता रहा | फिर उनको वहीँ पर लेटा दिया और उनकी पैंटी को निकाल कर उनकी चूत में अपने मुंह को घुसा दिया | मैं उनकी चूत में अपने मुंह को घुसा कर चाटने लगा | भाभी मस्त सेक्सी आवाजे करने लगी | मैं उनकी चूत को चाटने के साथ मैं उनकी चूत में ऊँगली भी घुसा दी | भाभी के मुंह से आ आ आ…. ऊ ऊ ऊ ऊ… सी सी सी सी… ई ई ई ई ई…. की सिसकियाँ लेने लगी | मैं उनकी चूत में ऐसे ही 4 मिनट तक ऊँगली को अन्दर बाहर करता रहा | फिर अपने लंड को अंडरवियर से निकाल कर भाभी के हाथ में पकड़ा दिया | भाभी मेरे लंड को मुंह में रख कर जोर जोर से चूसने लगी | भाभी मेरे लंड को मुंह में रख कर जोर जोर से चूस रही थी | मैं अपने लंड को ऐसे ही कुछ देर तक चुसाने के बाद | मैं उनके मुंह से लंड को निकाल कर उनकी चूत में घुसा दिया | भाभी की चूत गीली होने की वजह से उनकी चूत में मेरा 6 इंच का पूरा लंड घुस गया | मैं उनकी तांग को ऊपर उठा कर उनकी चूत में जोर जोर के धक्को के साथ उनको चोदने लगा | वो ऊ ऊ ऊ ऊ… ई ई ई ई… सी सी सी.. माँ माँ माँ माँ… की सिसकियाँ लेने लगी | मैं भाभी की दोनों टांगो को पकड कर उनकी चूत में जोरदार धक्को से अन्दर बाहर करते हुए भाभी को चोदने लगा | भाभी ई ई ई ई.. र्रर्रर्र… आ आ आ आ… ह ह ह ह ह ह… की सेक्सी आवाजे कर रही थी | कुछ देर में मैंने धक्को की स्पीड इतनी तेज कर दी की धक्को की आवाज बाथरूम में गूंजने लगी | मैं भाभी के ऐसे ही जबरदस्त धक्को के साथ 15 मिनट तक चोदता रहा और मैं झड़ गया |

फिर मैंने भाभी की चूत में अपनी ऊँगली को डाल कर जोर जोर से अन्दर बाहर करने लगा | मैं उनकी चूत में उँगलियों को डाल कर जोर जोर से हिलाने लगा जिससे उनकी चूत से कुछ ही देर में पानी निकल गया | फिर मैं और भाभी ने साथ में नहाया |

धन्यवाद………..

और कहानिया

 

One comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *